Saturday, May 25, 2024
Homeउत्तर प्रदेशसब ग्रंथों का सार है, तेरा मेरा प्यार- जय चक्रवर्ती

सब ग्रंथों का सार है, तेरा मेरा प्यार- जय चक्रवर्ती

तन्हा-स्मृति समारोह में बही काव्य मंदाकिनी

कामता नाथ सिंह
छतोह , रायबरेली।

आशु कवि स्व. ब्रजेश नारायण तनहा की स्मृति में छतोह ब्लॉक के स्वामी विवेकानंद पब्लिक स्कूल में तनहा स्मृति काव्य समारोह का आयोजन किया गया।
कार्य क्रम के अध्यक्ष राष्ट्रीय कवि जय चक्रवर्ती और वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. देवी बख्श सिंह द्वारा मां सरस्वती एवं आशु कवि स्व. बृजेश नारायण श्रीवास्तव “तनहा” के चित्र पर माल्यार्पण किया गया। अयोध्या धाम से पधारी कवियित्री अर्चना द्विवेदी की सस्वर वाणी वन्दना से काव्यपाठ का श्रीगणेश हुआ।प्रतापगढ़ के ओज कवि अंजनी अमोघ ने “अंग- अंग में भरे आग”, बाराबंकी के शिवेश राजा ने “देख-देख अपराध पाप सब, यदि मन का धीरज न डोले”,प्रमोद पंकज ने ‘पलटू जी पलटी में पूरे माहिर हैं,”शाबिस्ता ब्रजेश ने “भूख गरीबी लाचारी से है अपना अनुबंध। लिखूं कैसे होली के छंद”, अयोध्या की अर्चना द्विवेदी ने ‘फूल की पांखुरी तोड़ना मत कभी, चिट्ठियां नेह की मोड़ना मत कभी’, डॉ. कामतानाथ सिंह ने ‘छेड़ती हवाओं को क्या कहके समझाएं,आओ हम बैठें फिर गीत गीत मुस्काएं’ और वीर रस के सशक्त हस्ताक्षर राज किशोर सिंह किशोर ने उत्कृष्ट रचनाएं पढ़कर कार्यक्रम को ऊंचाइयों पर पहुंचाया।संचालन कर रहे अनुज अवस्थी, डॉ.देवी बख्श सिंह, निर्मल प्रकाश श्रीवास्तव, मकसूद जाफरी जैसे लाखों लोगों के दिलों पर राज करने वाले साहित्यकारों की बेजोड़ रचनाओं ने अमिट छाप छोड़ी। धनंजय शाश्वत, बिहारी लाल अंबर, मजीद रहबर, दीपेन्द्र तन्हा ने भी अपनी रचनाओं से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया। समय की विद्रूपता का युग बोध कराती, सामयिक छलतंत्र को ललकारती, सर्वहारा वर्ग का प्रतिनिधित्व करती देश के यशस्वी साहित्यकार जय चक्रवर्ती की रचनाओं
“इलेक्शन है नए जुमले उछालो,”
“लपेटे आंख पर पट्टी खड़ी है न्याय की देवी,
जिसे फंदा पहनना था वही माला पहनता है”,
“सब ग्रंथों का सार है, तेरा मेरा प्यार” आदि रचनाओं ने लोगों में नई ऊर्जा और चेतना का संचार कर दिया। सभी कवियों ने स्वर्गीय बृजेश नारायण तन्हा को काव्यांजलि देने से काव्य पाठ आरम्भ किया।


इसके पूर्व आयोजक दीपेन्द्र तन्हा व ज्ञानेंद्र अज्ञानी ने सभी कवियों का माल्यार्पण व अंग वस्त्र से स्वागत किया। इस अवसर पर पत्रकार संजीव सिंह दीपू, संतोष पांडेय, नीरज श्रीवास्तव को भी विशेष रूप से सम्मानित किया गया। प्रसिद्ध कीर्तनकार राधे श्याम मिश्र, सन्तोष यादव, अजय मिश्र, सुधीर श्रीवास्तव, आरिफ नकवी, जैद हारिश आदि की मौजूदगी ने आयोजकों का मनोबल बढ़ाया।

uploktantra
Author: uploktantra

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

Live Tv

Download ID

spot_img

आपकी राय

Cricket Live

Market Live

Rashifal

यह भी पढ़े