Saturday, May 25, 2024
Homeउत्तर प्रदेशपरीक्षित मोक्ष से हुआ कथा समापन

परीक्षित मोक्ष से हुआ कथा समापन

नसीराबाद, रायबरेली।
छतोह ब्लॉक के पूरे राम दत्त दुबे में श्रीमद् भागवत पुराण कथा ज्ञान यज्ञ के अन्तिम दिवस लब्धप्रतिष्ठ कथा-व्यास पण्डित बद्री विशाल ओझा ने समूचे पंडाल को कृष्णमय कर दिया। राधिका रानी और कुंजबिहारी के भक्ति लालित्य के रस में सराबोर श्रोताओं ने सुध बुध खो दी।

कंस वध, जरासंध युद्ध, द्वारिका नगरी की स्थापना और मथुरा वासियों के साथ पलायन करने, रणछोर कहलाने और रुक्मिणी हरण और सोलह हजार एक सौ आठ विवाह, सुभद्रा हरण और परीक्षित मुक्ति की कथा सुनाई। उन्होंने कहा कि भागवत कथा सुनें या न सुनें भागवत के पांच धर्मों सत्य, अहिंसा, आस्तेय, अपरिग्रह और ब्रह्मचर्य का पालन अवश्य करें।
कथा के बीच-बीच में संगीत साधकों की सरस प्रस्तुति ने लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया।मुख्य यजमान त्रिभुवन नाथ द्विवेदी और श्रीमती माधुरी द्विवेदी ने पुत्र राहुल द्विवेदी, मोहित द्विवेदी, रोहित द्विवेदी, पुत्र वधू नीतू, प्रभा, मीनू, राकेश द्विवेदी, राजीव द्विवेदी, अनुराग द्विवेदी और सभी परिजनों के साथ कथा सुनी। आचार्य अशोक कुमार द्विवेदी, आचार्य जय प्रकाश पाण्डेय और आचार्य दयाशंकर पांडेय ने पूजा-अर्चना और आरती सम्पन्न कराई।क्षेत्रीय विधायक अशोक कुमार कोरी, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सरदार कल्याण सिंह गांधी, कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंघल, त्रियुगी नारायण त्रिपाठी, प्रदीप तिवारी, पारस नाथ द्विवेदी, कामता नाथ सिंह, बब्बन कुमार यादव, सन्त शरण द्विवेदी आदि ने भी कथाश्रवण करके पुण्य लाभ अर्जित किया।

uploktantra
Author: uploktantra

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

Live Tv

Download ID

spot_img

आपकी राय

Cricket Live

Market Live

Rashifal

यह भी पढ़े