Tuesday, May 21, 2024
Homeउत्तर प्रदेशरासलीला की सजीव प्रस्तुति ने रस बरसाया

रासलीला की सजीव प्रस्तुति ने रस बरसाया

कामता नाथ सिंह
नसीराबाद, रायबरेली।

श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ में प्रख्यात कथा व्यास आचार्य बद्री विशाल ओझा ने रास लीला और रुक्मिणी विवाह का प्रसंग सुनाकर श्रद्धालुओं को मंत्र मुग्ध कर दिया। उन्होंने बताया कि दिव्य रास के लिए गोपियां सजने संवरने लगीं तो सुध-बुध खो बैंठीं। दैहिक सुख के लिए नहीं,गोपियां आत्मिक सुख के लिए महारास के लिए निकल पड़ीं।


दिव्यरास के लिए घर त्याग कर आई गोपांगनाओं को समझाते हुए लीला पुरुषोत्तम आनन्दकंद श्री कृष्ण चंद्र ने कहा कि कर्मफल अवश्य भोगना पड़ेगा। प्रारब्ध का मूल्य समझें। पति निर्धन, रोगी जैसा भी हो परित्याग नहीं करना चाहिए अन्यथा भविष्य कष्टमय हो जायेगा। यह सुनकर प्रेम विहवल गोपियों को जैसे सांप सूंघ गया हो। उनके सजल नेत्रों और समर्पण को देखते हुए भगवान रासबिहारी ने दिव्य रासलीला करके उन्हें अलौकिक आनन्द प्रदान किया। कार्य क्रम के अन्त में श्री कृष्ण रुक्मिणी विवाह का सजीव दृश्य प्रस्तुत किया गया। मुख्य यजमान त्रिभवन नाथ द्विवेदी ने सहधर्मिणी श्रीमती माधुरी द्विवेदी, दामाद राजेश मिश्र, पुत्रगण राहुल, मोहित,रोहित और पुत्र वधुओं नीतू, प्रभा,मीनू तथा राजीव द्विवेदी, अनुराग द्विवेदी आदि परिजनों सहित सैंकड़ों भक्तों के साथ देवी रुक्मिणी और लीला पुरुषोत्तम के पांव पूजे। आचार्य अशोक कुमार द्विवेदी, आचार्य जयप्रकाश पाण्डेय, आचार्य दयाशंकर तिवारी ने विवाह, आरती, पूजन सम्पन्न कराया। कु. परी ने श्रीकृष्ण और कु. नयना ने रुक्मिणी की भूमिका निभाई। संगीतज्ञ रामजी और अमित सिंह कानपुर की संगितमयी प्रस्तुति ने आनन्द रस की वर्षा करके सबको भाव विभोर कर दिया।
दुर्गा कांत पांडेय, आलोक पाण्डेय, गिरजेश सिंह, धर्मेंद्र मिश्र, राज कुमार मिश्र, संत कुमार सिंह सहित सैंकड़ों भक्तों ने कथामृत का पान किया।

uploktantra
Author: uploktantra

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

Live Tv

Download ID

spot_img

आपकी राय

Cricket Live

Market Live

Rashifal

यह भी पढ़े