Tuesday, May 21, 2024
Homeउत्तर प्रदेशसुप्रीम कोर्ट का सुप्रीम फैसला,राहुल नहीं जनतंत्र की जीत

सुप्रीम कोर्ट का सुप्रीम फैसला,राहुल नहीं जनतंत्र की जीत

कामतानाथ सिंह
नसीराबाद,रायबरेली।
राहुल गांधी की संसद सदस्यता रद्द करने के निचली अदालत के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगाते हुए कहा कि निचली अदालत ने अधिकतम सजा देकर गलती की है। उच्चतम न्यायालय का फैसला आते ही अमेठी में खुशी की लहर दौड़ गई। जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रदीप सिंघल ने कहा कि राहुल गांधी की यह जीत भारत में प्रजातंत्र की जीत और भाजपा की घृणित और षड्यंत्रकारी नीतियों के मुंह पर तमाचा है। आज राहुल गाँधी की सजा पर माननीय सर्वोच् न्यायालय ने रोक लगा दी है।
यह सिर्फ राहुल गांधी की जीत नहीं, हर एक उस देशवासी की जीत है जिसने नफरत की बजाय मोहब्बत को चुना है।
न्यायलय का फैसला आते ही अमेठी में खुशी की लहर दौड़ गई। केंद्रीय कांग्रेस कार्यालय गौरीगंज में जिला अध्यक्ष प्रदीप सिंहल के पहुंचते ही सैकड़ो कांग्रेस नेता इकठ्ठे हो कर राहुल गाँधी जिंदाबाद, कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद के नारे लगाने लगे। जिला अध्यक्ष सिंघल ने कहा कि सत्य की जीत हुई है, अमेठी ही नहीं देश के आम जनमानस की जीत हुई है, जिस परिवार ने सदैव देश के लिए बलिदान दिया है, उसकी जीत हुई है।
देश आज जल रहा है और सरकार चुप है। राहुल गांधी के पांच सवालों का सदन में जवाब तो नहीं दिया बल्कि न्यायपालिका को भ्रमित करके अपनी कुत्सित और घृणित मानसिकता को उजागर कर दिया। माननीय सर्वोच्च न्यायलय के फैसले से आज पूरे देश की जनता में ख़ुशी है।
यदि भाजपा व नरेन्द्र मोदी न्यायपालिका का सम्मान करते हैं तो देश की जनता से माफ़ी मांगें।
केन्द्रीय कांग्रेस कार्यालय गौरीगंज में जिला अध्यक्ष सिंघल व कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आपस में एक दूसरे को लड्डू खिलाकर खुशी का जश्न मनाया। इस मौके पर पूर्व जिला अध्यक्ष योगेन्द्र मिश्रा, नरेन्द मिश्र, अनिल सिंह, सर्वेश सिंह, धर्मेंद्र शुक्ला, शकील इदरीसी, शुभम सिंह, दिवस प्रताप सिंह, अवनीश मिश्र, संजीव पुष्पकर, प्रशांत तिवारी, अंकित सिंह, वैभव व आशीष सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे l

uploktantra
Author: uploktantra

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

Live Tv

Download ID

spot_img

आपकी राय

Cricket Live

Market Live

Rashifal

यह भी पढ़े