Saturday, May 25, 2024
Homeउत्तर प्रदेशअमान्य विद्यालयों पर एक एक लाख रुपए के जुर्माने से हड़कंप

अमान्य विद्यालयों पर एक एक लाख रुपए के जुर्माने से हड़कंप

के.एन.सिंह/मो. इस्माइल खान
सलोन,रायबरेली।

बिना मान्यता प्राप्त किए विद्यालयों और अमान्य कक्षाओं का संचालन करना प्रबंधकों के गले की हड्डी बन गया है।
खण्ड शिक्षाधिकारी सलोन ने कई बार चेतावनी देने के बावजूद स्कूल न बंद करने वाले सात अमान्य विद्यालयों के प्रबंधकों पर एक एक लाख रुपए का जुर्माना ठोक दिया है। स्कूल के संचालकों को कुछ सूझ नहीं रहा है, आगे कुआं है तो पीछे खाई। अगर विद्यालय बंद करें तो इनमें पढ़ने वाले बच्चों को कहां भेजें और अगर न बंद करें तो ₹100000 का जुर्माना कहां से भरें। फिलहाल सलोन ब्लाक के सात अमान्य विद्यालयों को एक एक लाख रूपए जुर्माने की रकम दो दिवस के अंदर सरकारी खजाने में जमा करने का आदेश खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा दिया गया है और न जमा करने पर एफ आई आर दर्ज कराने की चेतावनी दी गई है। खंड शिक्षा अधिकारी,सलोन के कार्यालय से निर्गत आदेश के अनुसार शिवाजी शिक्षा निकेतन इटारा, शास्वत अकादमी सूची, बेबी कंसेप्ट स्कूल खैरहनी पहाड़गढ़, सी के पब्लिक स्कूल घूरनपुर, एस डी कान्वेंट स्कूल पूरे बदारू कान्हपुर, गुडलक पब्लिक स्कूल उसरी नहर, कृष्णा पब्लिक स्कूल कमाल गंज के प्रबंधकों को दो दिन के अंदर जुर्माने की राशि सरकारी खजाने में जमा करने को कहा गया है। इस कार्यवाही से अमान्य विद्यालय और अतिरिक्त कक्षाएं संचालित करने वाले प्रबंधकों में हड़कंप मच गया है। यद्यपि शिक्षा के बाल अधिकार अधिनियम के अंतर्गत ऐसी कठोर कार्यवाही का प्राविधान है फ़िर भी अधिकारियों की अनदेखी के चलते शिक्षा माफियाओं द्वारा गैर मान्यता प्राप्त प्राइवेट विद्यालयों का संचालन समूचे रायबरेली जनपद में हो रहा है।

uploktantra
Author: uploktantra

spot_img
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisements

Live Tv

Download ID

spot_img

आपकी राय

Cricket Live

Market Live

Rashifal

यह भी पढ़े